सावन का श्रृंगार ऐसा हो इस बार

by | Jul 13, 2020 | Fashion, Style | 0 comments

फैशन की रौनक मौसम के साथ अपनी ताल बैठाने लगती है। कभी हवा की सरगोशियां बढ़ती हैं तो कभी ठंडी फुहार का अलबेलापन गुदगुदाने लगता है। ऐसा ही कुछ आलम होता है बारिश का। प्रकृति के नए सृजन से सब-कुछ नया होने लगता है। आशाएं बंधने लगती हैं, खुशियां मुस्कुराने लगती हैं। अरे! ये क्या, आप तो किसी सोच में डूब चुके हैं। बस बहुत हुआ, अब वापस पर लौट आइये। हां तो भाई ये सावन का मौसम है ही इतना हसीन कि कोई भी इसकी गिरफ्त में आ जाता है। तो भला फैशन कहां इससे दूर होने लगा। खासकर महिलाओं के लिए तो सावन एक अवसर होता है श्रृंगार के लिए। लहरिया और बंधेज तो खास इस मौसम में अपना जादू दिखाते हैं। फिर शिफॉन फैब्रिक से तो बस क़यामत ही आ जाती है। चलिए जल्दी से सावन के फैशन ट्रेंड पर एक नज़र डाल ली जाये।

सावन और श्रृंगार का पुराना रिश्ता है

महिलाओं के लिए तो श्रृंगार एक बहाना होता है। लेकिन सावन का महीना एक सबसे खूबसूरत बहाना बनकर आता है। इस दौरान होने वाले तीज-त्यौहार इस अवसर को और भी खास बना देते हैं। ये बात सिर्फ महिलाओं तक सीमित नहीं होती है। लड़कियां भी इसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा लेती हैं। हाथों में मेहंदी, चूड़ियां और खूबसूरत गहने सुंदरता को और निखार देते हैं। कहा तो ये भी जाता है कि इस अवसर पर एक सुहागन सोलह श्रृंगार करके अपने रूप को दुगना कर सकती है। इसलिए इस दौरान आप सोलह श्रृंगार से परहेज़ मत कीजिये।

त्यौहारों की शुरुआत होती है सावन के साथ

हरियाली और आनंद का एक मिला-जुला कॉम्बिनेशन है सावन का महीना। सावन के महीने से ही हमारे सारे तीज-त्यौहार शुरू हो जाते हैं। हरियाली अमावस्या, राखी, सातुड़ी तीज। इन सबके लिए महिलाएं बहुत उत्सुक और लालयित रहती हैं। इन त्यौहारों में सजना-संवरना एक अलग ही आनंद देता है। इसके लिए महिलाएं पहले ही सारी तैयारी कर लेती हैं। आप भी अगर फैशन को ट्रेडिशन के साथ जोड़ना चाहती हैं तो अपने स्टाइल को अभी से तय कर लीजिये।

शिफॉन को अपने स्टाइल में ज़रुर जगह दीजिये

साड़ी में शिफॉन फैब्रिक बहुत अच्छा लगता है। शिफॉन हल्की भी होती है और इसका फील भी बहुत अच्छा आता है। खासकर बारिश के लिए शिफॉन एक अच्छा ऑप्शन है। आप चाहे शिफॉन मटेरियल को स्कर्ट में यूज़ करें, सूट में या किसी और तरह से, आप पर ये अच्छा ही लगेगा। शिफॉन की सबसे अच्छी बात है इसका कम्फर्ट, इसलिए महिलाएं इसे पहनना पसंद करती हैं।

रंग-बिरंगा लहरिया बांध देता है समां

जी हां सावन का उल्लास लहरिया के रूप में समझा जा सकता है। लहरदार और सुन्दर रंगों संयोजन से बना लहरिया स्टाइल का सबसे अच्छा विकल्प है। शिफॉन के साथ लहरिया ज़रुर खरीदिये। क्योंकि ये मैच हर किसी पर सूट करता है। लहरिया इतने कलर्स में आता है कि आप अपनी पसंद का कोई भी रंग चुन सकते हैं। लहरिया डिज़ाइन में सूट या कोई और पहनी जा सकती है।

बंधेज चार चांद लगाता है आपके लुक को

राजस्थानी परम्परा का प्रतिनिधित्व करता है बंधेज। जी हां बंधेज की कला काफी पुरानी और समृद्ध है। गोटा पत्ती का काम और बंधेज का मैचअप किसी मैजिक से कम नहीं है। बंधेज को आप साड़ी या सूट दोनों स्टाइल में पहन सकती हैं। आपको बता दें कि बंधेज में भी आपको रंगों के अनेक विकल्प मिल सकते हैं। लेकिन ग्यारंटी नहीं लेते हैं कि आपको सिर्फ एक ही पसंद आएगी। बंधेज स्टाइल में बना स्कर्ट भी आपके लुक को बढ़ाता है। तो अपने ही एक पीस खरीदकर तो रख ही लीजिये।

सावन में पहने जाने वाले स्टाइल पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

स्टाइल से जुडी अन्य जानकारी के लिए हमारे फैशन सेक्शन को ज़रुर देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए निरोग दर्पण के ब्यूटी सेक्शन को विज़िट करना न भूलें।