लेग मसल्स को मजबूत बनाकर पैर दर्द को खत्म कीजिये इन एक्सरसाइज़ से

by | Aug 7, 2020 | Fitness, Health | 0 comments

आपकी फिटनेस तभी मुक्कमल होगी जब आप सर से लेकर पैर तक एकदम फिट होंगे। लेकिन ऐसा हो नहीं पाता, कभी पैर में दर्द तो कभी हाथ में। मतलब शिकायत कभी खत्म होती ही नहीं। इसमें भी गलती आपकी ही है। आप अपनी सेहत का ध्यान नहीं रखती हैं और फिर खुद ही परेशान होती रहती हैं। महिलाओं के साथ सबसे बड़ी समस्या ये होती है कि वो एक्सरसाइज़ पर ज़्यादा ध्यान नहीं देती हैं। इससे हड्डियों के साथ उनकी मसल्स भी कमज़ोर होती जाती हैं। अब अगर हम लेग मसल्स की बात करें तो ये महिलाओं की सबसे बड़ी मुसीबत होती है। पैर दर्द के अलावा काफ पेन भी उनके लिए समस्या बन जाता है। आये दिन इस तरह की तकलीफ उठाने से बेहतर है कि आप रोज़ स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज़ करें। इससे आपकी मसल्स में लचीलापन आता है। इसके अलावा आप टो कर्ल और लंजेस की भी प्रैक्टिस कर सकते हैं। साथ ही लेग एक्सटेंशन आपके लिए बहुत मददगार साबित होगा। आइये इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

बिना एक्सरसाइज़ के लेग मसल्स हो जाती हैं वीक

जब आप कोई एक्सरसाइज़ नहीं करती हैं तो आपकी लेग मसल्स वीक हो जाती हैं। लेग मसल्स के वीक होने से आपको अक्सर दर्द की शिकायत बनी रहती है। यदि आप नियमित रूप से एक्सरसाइज़ करेंगे तो लेग मसल्स में लचीलापन आएगा और साथ ही उनकी मज़बूती भी बनेगी। इससे आपको हर तरह के पैर दर्द में आराम मिलेगा। जब भी आपको समय मिले आप पैरों की एक्सरसाइज़ भी ज़रूर करें।

रोज़ सुबह घूमना भी लेग मसल्स को मज़बूती देता है

अगर आप कुछ खास नहीं कर पा रहे हैं तो रोज़ सुबह 1 घण्टा घूमिये। इससे आपके पैरों की अच्छी कसरत होती है। साथ ही आपका स्वास्थ्य भी अच्छा बना रहता है। टहलने के साथ थोड़ी स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज़ भी करने से आपको पैरों की तकलीफ में बहुत फायदा मिलेगा। लेकिन इसे केवल एक या दो दिन करके नहीं छोड़ना है। आपको नियमित रूप से इस रूटीन को बनाये रखना होगा।

काफ पेन में भी मिलती है राहत

महिलाओं को अक्सर काफ पेन की शिकायत होती है। जिसके कारण उन्हें साधारण जीवन जीने में बहुत असुविधा होती है। काफ पेन मतलब पिंडलियों का दर्द। इसके कारण चलने में भी बाहर तेज़ दर्द होता है। मालिश करके थोड़े दिन ठीक लगता है। लेकिन उसके बाद फिर से काफ पेन शुरू हो जाता है। काफ पेन को दूर करने के लिए एक्सरसाइज़ करना बहुत ज़रूरी है। इससे आपकी लेग मसल्स को भी बहुत आराम मिलेगा।

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज़ से मिलती है मज़बूती

आप केवल शरीर के लिए स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज़ मत कीजिये। पैरों के लिए भी स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज़ बहुत ज़रूरी होती है। स्ट्रेचिंग से आपके पैरों की मसल्स मज़बूत होती है। इसके बिना अगर आप एक्सरसाइज़ करेंगे तो आपको कोई फायदा नहीं मिलेगा। इसलिए पैरों की स्ट्रेचिंग ज़रूर करें।

टो कर्ल पूरे पैरों को मज़बूती देगी

आप जब भी एक्सरसाइज़ शुरू करें, टो कर्ल से शुरुआत करें। टो कर्ल का अर्थ है आपके पैर के नाखून को मोड़कर उसे ऊपर-नीचे करना। इसके अतिरिक्त आप टॉवल के साथ भी टो कर्ल एक्सरसाइज़ कर सकते हैं। एक कुर्सी पर बैठकर आप टॉवल से पैरों की उंगलियों को कर्ल करें। जब टो कर्ल आप रोज़ करेंगे तो इससे लेग मसल्स को काफी आराम मिलता है। टो कर्ल आप करीब 20-25 बार परफॉर्म कर सकते हैं।

लंजेस लेग मसल्स को टोन करती है

अगर आप लंजेस एक्सरसाइज़ करती हैं तो इससे आपकी लेग मसल्स टोन होती हैं। लंजेस आपके पैर के अतिरिक्त वसा को भी कम करता है। पैर के फैट को कम करने के लिए आप लंजेस ज़रूर परफॉर्म करें। ये एक्सरसाइज़ थोड़ी कठिन होती है इसलिए आप लंजेस को धीरे-धीरे करें।

तो आप सुबह की शुरुआत एक्सरसाइज़ से कीजिये और उसमें लेग मसल्स को मजबूत बनाने वाली एक्सरसाइज़ ज़रूर शामिल करें।

पैरों की मसल्स को मज़बूत बनाने वाली एक्सरसाइज़ पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

फिटनेस से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे हेल्थ सेक्शन को देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए निरोग दर्पण के डाइट एंड फिटनेस सेक्शन को विज़िट करना न भूलें।