इंटरमिटेंट फास्टिंग में छिपा है लॉन्ग लाइफ का सीक्रेट

by | Feb 4, 2020 | Diet, Health | 0 comments

डाइट को लेकर आज लोगों में बहुत कंसर्न देखी जा रही है। एक तरह से ये अच्छा है। लेकिन आजकल इतने नए फिटनेस प्लान आ गये हैं कि समझ नहीं आता कि क्या अच्छा है और क्या नहीं। जो भी हो सबसे ज़रूरी तो है हमारी फिटनेस। फिर ये मुद्दा नहीं रहता है कि क्या तरीका अपनाया गया है। अब आप इंटरमिटेंट फास्टिंग को ही ले लीजिये। सेलिब्रिटीज़ के बीच ये फिटनेस टर्म आजकल बहुत ज़्यादा कॉमन हो गई है। आपको बता दें कि ये एक तरह का ईटिंग पैटर्न है। इससे लोगों को वेट लॉस में बहुत मदद मिलती है। यही नहीं ये आपके शरीर में एनर्जी भी जनरेट करता है। इसके साथ आप एक अच्छा डाइट प्लान भी कर सकते हैं। तो चलिए हम आपको इंटरमिटेंट फास्टिंग बेनिफिट्स के बारे में बताते हैं।

क्या है इंटरमिटेंट फास्टिंग?

जैसा हमने बताया कि आजकल ये फिटनेस टर्म सेलिब्रिटीज़ के बीच भी बहुत लोकप्रिय हो रहा है। देखा जाये तो ये कोई डाइट प्लान नहीं है, बल्कि एक ईटिंग पैटर्न है। इस ईटिंग पैटर्न की मदद से आप न सिर्फ फिट रह सकते हैं बल्कि वेट लॉस में भी ये मददगार होता है। अगर व्रत की बात की जाये तो हमारी संस्कृति में तो इसका बहुत पुराना विधान है। इंटरमिटेंट फास्टिंग के अंतर्गत रुक-रूककर मील लिया जाता है। जैसे आपने शाम 6 बजे तक कुछ खाया, इसके बाद आप अगली सुबह 10 बजे के बाद ही कुछ खा सकते हैं। कहने का अर्थ है कि इस बीच आप कुछ नहीं खा सकते हैं। इसमें भोजन करने का एक निश्चित समय होता है। ये समय 12 से 16 घंटे के दरमियान हो सकता है।

अनेक प्रकार की होती है इंटरमिटेंट फास्टिंग

अगर आप ये सोच रहे हैं कि इंटरमिटेंट फास्टिंग एक ही तरह की होती है तो आप गलत सोचते हैं। इंटरमिटेंट फास्टिंग 5-6 तरह की होती हैं। ये प्रकार घंटे से दिन तक तय होते हैं। कभी आप 24 घंटे की इंटरमिटेंट फास्टिंग कर सकते हैं। ये घंटे 12 से 16 के बीच भी बंट सकते हैं। या फिर दिन में केवल एक समय खाना खाना। ये आप पर निर्भर करता है कि आप किस तरह की इंटरमिटेंट फास्टिंग करना चाहते हैं।

वेट लॉस में होता है मददगार

सच में अगर आप वेट लॉस के बारे में सोच रहे हैं तो इंटरमिटेंट फास्टिंग से बेहतर कुछ नहीं। जी हां लोगों का दावा है कि उन्होंने इंटरमिटेंट फास्टिंग से एक महीने में 4-5 किलो वेट लॉस किया है। एक तरीके को आप भी वेट लॉस में यूज़ कर सकते हैं।

बनी रहती है शरीर की एनर्जी

आपके शरीर की एनर्जी को बनाये रखने के लिए इंटरमिटेंट फास्टिंग बहुत फायदेमंद होती है। इस तरीके से आपको कमज़ोरी भी नहीं लगती और आपका एनर्जी लेवल भी बना रहता है। इसलिए आपके मन में ये विचार आये कि कहीं हमारा एनर्जी लेवल सुस्त न हो जाये तो आप बेफिक्र रहिये।

इंटरमिटेंट फास्टिंग बेनिफिट्स

देखिये इंटरमिटेंट फास्टिंग बेनिफिट्स की एक लम्बी लिस्ट है। इंटरमिटेंट फास्टिंग बेनिफिट्स में सबसे अहम तो है वेट लॉस, उसके बाद आती है आपकी ईटिंग हैबिट। जी हां इंटरमिटेंट फास्टिंग बेनिफिट्स से आपकी खाने की आदत में भी सुधार आता है। यही नहीं इंटरमिटेंट फास्टिंग बेनिफिट्स में आपका टोटल बॉडी कंट्रोल भी शामिल है। इससे आपका ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहता है। आपका कॉलेस्ट्रॉल संतुलित रहता है। देखा जाये तो इंटरमिटेंट फास्टिंग बेनिफिट्स एक नहीं बल्कि अनेक हैं। इसलिए आप भी इसे अपना सकते हैं।

डाइट प्लान से जल्दी होता है असर

यदि आप इंटरमिटेंट फास्टिंग के साथ सही डाइट प्लान भी बनाते हैं तो इसका जल्दी असर होता है। एक परफेक्ट डाइट प्लान को फॉलो करके आप और भी जल्दी रिजल्ट्स पा सकते हैं। क्योंकि इस फास्टिंग तकनीक के साथ आपका डाइट प्लान भी एकदम संतुलित होना चाहिए। वर्ना आपको इतनी जल्दी लाभ नहीं मिलेगा। संभव हो तो इसे एक बार ट्राय करके ज़रूर देखें।

इंटरमिटेंट फास्टिंग बेनिफिट्स पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इए शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

डाइट से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे हेल्थ सेक्शन को ज़रूर देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए निरोग दर्पण के डाइट एंड फिटनेस सेक्शन को विज़िट करना न भूलें।