ईएमआई से जुड़े ये फैक्ट्स जानें, फिर नहीं होगी कोई समस्या

by | Nov 26, 2019 | Finance, Lifestyle | 0 comments

वर्किंग महिलाओं के लिए फाइनेंस से जुड़ी अनेक चुनौतियां होती हैं। ऐसा नहीं है कि उन्हें इस बारे में कोई नॉलेज नहीं होता है। लेकिन फिर भी ईएमआई को लेकर वह बहुत परेशान रहती हैं। खैर ये परेशानी तो सबकी ही है। क्या महिलाएं और क्या पुरुष सभी ईएमआई को लेकर तकलीफ में हैं। बैंक लोन लेना तो आसान होता है, लेकिन उसकी किश्त भरना बहुत मुश्किल होता है। कई बार तो इंटरेस्ट रेट्स इतनी हाई होती है कि अच्छा-खासा व्यक्ति परेशान हो जाता है। इसके अलावा क्रेडिट कार्ड भी एक तरह का लोन ही होता है, जिसका पेमेंट भी हमे करना ही होता है। होम लोन के अलावा पर्सनल लोन में भी ईएमआई के अलग-अलग रेट्स होते हैं। लोग इसके कारण परेशान हैं। आपको लोन का प्रीपेमेंट भी करना चाहिए। इससे लोन का समय कम करने में सहायता मिलती है। लेकिन आप कुछ सावधानियां रखेंगे तो समस्या नहीं आएगी। आइये इस बारे में आपको जानकारी देते हैं।

लोग समझ नहीं पाते ईएमआई के जाल को

बैंक लोन तो लोग आसानी से ले लेते हैं, लेकिन ईएमआई में उलझकर रह जाते हैं। लेकिन अगर सही तरीके से ईएमआई के फेर को जान लिया जाये तो फिर इतनी समस्या नहीं आएगी। कई बात तो ईएमआई को भरने में व्यक्ति इतना परेशान हो जाता है कि वह डिप्रेशन तक में चला जाता है। वास्तव में लोग समझते हैं कि ईएमआई कोई बड़ी बात नहीं। लेकिन अगर आप इसे सही तरीके से मैनेज नहीं कर पायेंगे तो समस्या ज़रूर होगी।

लोन से पहले उसकी ईएमआई के बारे में पता कर लें

अगर आप लोन लेना चाहते हैं तो अच्छी बात है। लेकिन साथ ही उस पर आपको कितना भुगतान करना है पता कर लें। अगर पहले से ईएमआई के बारे में जानकारी मिल जायेगी तो आपके लिए अच्छा होगा। इससे आपको उसे मैनेज करने में आसानी होगी। ईएमआई को लेकर आपका माइंड सेट हो जायेगा और आप उसे लेकर स्ट्रेटेजी बना सकेंगे।

बैंक लोन लेते समय इंटरेस्ट रेट्स का ध्यान रखें

देखिये बैंक लोन की सुविधा इसलिए दी जाती है जिससे व्यक्ति अपनी जरूरतों को पूरा कर सके। फिर चाहे वो होम लोन हो या पर्सनल लोन हो। बैंक लोन कोई लड्डू नहीं है कि आप मर्ज़ी से इसे ले लें। बैंक लोन लेने से पहले बहुत सारी शर्तों को पूरा करना पड़ता है। सबसे ज़रूरी इंटरेस्ट रेट्स के बारे में सही जानकारी है। आपको ये ध्यान रखना है कि आप अपने सामर्थ्य के अनुसार ही लोन लें। इससे आप उसे समय पर पूरा भी कर पायेंगे। वर्ना पूरी ज़िंदगी आपकी ईएमआई चुकाते-चुकाते ही बीत जायेगी। इंटरेस्ट रेट्स को इग्नोर करना आपके लिए समस्या खड़ी कर सकता है।

क्रेडिट कार्ड भी होता है एक लोन

आजकल क्रेडिट कार्ड का चलन भी बहुत बढ़ गया है। लोगों को लगता है क्रेडिट कार्ड भी डेबिट कार्ड की तरह ही होता है। आपको बता दें कि डेबिट कार्ड आपके सैलरी या सेविंग्स अकाउंट से जुड़ा होता है। लेकिन क्रेडिट कार्ड वो लोन है जो आपको हर महीने तय खर्चों पर देना होता है। इसलिए क्रेडिट कार्ड का उपयोग ध्यान से करें।

फायदे के लिए लोन का प्रीपेमेंट करें

हर व्यक्ति की चाहत होती है कि उनका अपना घर हो। इसलिए बैंक होम लोन की सुविधा देता है। आपको ये ध्यान रखना है कि आप जो भी लोन लें, वो आपको फायदा पहुंचाए। इसके लिए आपको बैंकों द्वारा दिए जाने वाले होम लोन में तुलना करके देखना होगा। इससे आपको अपने लिए क्या सही है और क्या नहीं इसकी जानकारी मिल जायेगी। कोशिश करें कि आप लोन का प्रीपेमेंट करें। प्रीपेमेंट तभी करें जब आपकी आमदनी अच्छी हो रही हो। बड़े लोन के लिए प्रीपेमेंट एक अच्छा तरीका हो सकता है। ऐसे में आप लोन का भुगतान भी जल्दी कर सकेंगे।

पर्सनल लोन को केवल बहुत ज़रूरी चीज़ों के लिए लें

आपको पर्सनल लोन चाहिए तो आपको ध्यान रखना है कि केवल ज़रूरी चीज़ों के लिए ही इसे लें। आजकल तो लोग स्मार्ट फोन और अन्य ऐसी ही चीज़ों पर पर्सनल लोन लेते हैं। फिर इनकी ईएमआई भरने में उन्हें बहुत समस्या आती है। आप भी पर्सनल लोन लेने के लिए इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखें।

तो आप भी इन कुछ बातों का ध्यान रखें और ईएमआई के जाल से बचे रहें। ईएमआई से जुड़ी परेशानियों को आप कैसे दूर कर सकते हैं? इस विषय से जुड़ी जानकारी आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

फाइनेंस से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे लाइफस्टाइल सेक्शन को ज़रूर विज़िट करें। हेल्थ से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए निरोग दर्पण के थेरेपी सेक्शन को देखना न भूलें