महिलाओं के लिए ब्राइट करियर ऑप्शन है वास्तु कंसलटेंट का

by | Feb 17, 2020 | Career and Profession, Lifestyle | 0 comments

दुनिया में महिलाओं की पहचान अब हर रूप में बदल रही है। फिर वो कोई-सा क्षेत्र क्यों न हो। रोज़गार के जितने विकल्प पुरुषों के लिए खुले हैं उतने ही महिलाओं के लिए भी। कहने का अर्थ है कि अब महिलाएं भी अपनी प्रतिभा और मेहनत के बल पर हर ओर सफलता के कीर्तिमान स्थापित कर रही हैं। कोई भी ऐसा काम नहीं है जिसे महिलाएं नहीं कर सकती हैं। इसी कड़ी में अब एक और ऐसा प्रोफेशन जुड़ चुका है वास्तु कंसलटेंट का। जी हां महिलाएं एक सफल वास्तुविद के रूप में भी अपनी श्रेष्ठ सेवायें लोगों तक पहुंचा रही हैं। यह एक सम्मानजनक प्रोफेशन तो है ही, इसमें आगे भी अनेक संभावनाएं जुड़ी होती हैं। आजकल लोगों की रूचि भी इस प्रोफेशन में बढ़ रही है। वैसे भी होम कंस्ट्रक्शन में आजकल वास्तु का बहुत महत्व बढ़ गया है। वास्तु कंसलटेंट के रूप में महिलाएं एक सिक्योर्ड करियर बना सकती हैं। आइये इस बारे में आपको भी जानकारी दी जाये।

वास्तु कंसलटेंट के रूप में प्रैक्टिस को मज़बूत बनाना पड़ता है

जब आप वास्तु कंसलटेंट के रूप में स्थापित होने लगते हैं तो इससे आपको पहचान मिलती है। यदि आपका ज्ञान एकदम सटीक है और आपकी जानकारी विश्वसनीय है तो लोगों को आपकी सलाह से बहुत लाभ होता है। इस तरह से आपकी ख्याति फैलने लगती है। फिर धीरे-धीरे आपका नाम दूसरे लोगों तक भी पहुंचता है।

अच्छा वास्तु कंसलटेंट होने के लिए इस ओर रुझान होना ज़रूरी है

कोई भी महिला यदि वास्तु के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहती है तो इसके लिए सबसे ज़्यादा ज़रूरी है कि आपका रुझान इस ओर हो। आपको अगर वाकई वास्तु से जुड़ी बातें जानने में मज़ा आता है या आप इस बारे में अपनी उत्सुकता रखती हैं तो फिर इस फील्ड में करियर बनाने में कोई समस्या नहीं है। वास्तुशास्त्र से संबंधित किसी भी जानकारी को पाने के लिए आप उस बारे में पढ़ते हैं या फिर किसी अन्य व्यक्ति से सलाह लेते हैं। लेकिन जब आपका शौक इतना बढ़ जाये कि आप खुद ही अन्य व्यक्तियों को इस संबंध में सलाह देने लगें तो फिर तो आपको इस बारे में सीरियसली सोचना चाहिए।

वास्तु का गहन ज्ञान का होना ज़रूरी है

आपको ये भी बता दें कि इस बारे में आपको डीप नॉलेज भी होना चाहिए। क्योंकि वास्तुशास्त्र एक बड़ा ग्रंथ है, केवल ऊपरी ज्ञान के बल पर आप सफलता प्राप्त नहीं कर सकते हैं। अगर वाकई आपको वास्तु से जुड़ा कोई करियर बनाना है तो इसके लिए आप वास्तु से संबंधित कोई कोर्स भी कर सकते हैं। क्योंकि ज्योतिष के अलावा इससे जुड़े अनेक विषय ऐसे हैं जिनमें आजकल बाकायदा कोर्सेज़ उपलब्ध हैं। इसलिए आप इन विषयों पर जितना ज़्यादा ज्ञान बढ़ा सकते हैं आपके लिए अच्छा होगा। आप भी चाहें तो वास्तु शास्त्र से संबंधित कोई कोर्स कर सकते हैं। वैसे आपको ये भी बता दें कि बहुत-से लोग तो केवल जानकारी के बल पर ही वास्तु विशेषज्ञ की योग्यता प्राप्त कर लेते हैं।

होम कंस्ट्रक्शन और सही वास्तु शिल्प से जुड़ा होता है वास्तुशास्त्र

इस बारे में आपको वैसे थोड़ी बहुत जानकारी तो होगी ही। और बहुत सारे लोग इसमें काफी विश्वास भी रखते ही होंगे। दरअसल वास्तु के द्वारा आप ये पता कर सकते हैं कि किस स्थान पर क्या बनाया जा सकता है या क्या बनाना चाहिए। क्योंकि ये भी माना जाता है कि अगर घर का वास्तु गलत हो जाता है तो इससे घर के लोगों को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसलिए वास्तु के अनुसार घर बनवाने की सलाह दी जाती है।

छोटे स्तर से शुरुआत करें

अगर आप इस क्षेत्र में काम करना चाहते हैं तो आपको छोटे स्तर से शुरुआत करना होगी। अगर आपकी पकड़ इस पर मज़बूत हो जाती है तो आपके काम में निरंतर सुधार होता जायेगा। लेकिन यदि आप शुरू से ही ये सोच लें कि आपको बड़े स्तर पर काम मिल जाये तो ये इतना आसान नहीं होता है। लोग एकदम से आप पर विश्वास नहीं करते हैं। कई बार आपको जल्दी सफलता मिल भी जाती है और कईं बार बहुत मेहनत करना पड़ती है। इसलिए वास्तु कंसलटेंट बनने के लिए छोटे स्तर पर शुरुआत करें।

तो आप भी वास्तु कंसलटेंट के रूप में अपना करियर बना सकते हैं ये बहुत सुरक्षित और सम्माननीय प्रोफेशन है। भविष्य के साथ आपको इसमें अनेक संभावनाएं भी मिलेंगी।

वास्तु कंसलटेंट के विषय पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

करियर एंड प्रोफेशन से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे लाइफस्टाइल सेक्शन को ज़रूर देखें। इसके अलावा आप बच्चों की परवरिश के बारे में कुछ जानना चाहते हैं तो निरोग दर्पण के प्रेग्नेंसी एंड पेरेंटिंग सेक्शन को भी विज़िट ज़रूर करें।