अगर बच्चों की इम्युनिटी को लेकर परेशान हैं तो ये हैं कुछ उपाय

by | Sep 28, 2020 | Love & Life, Parenting | 0 comments

पेरेंटिंग में सबसे टेढ़ी खीर होती है बच्चों का स्वास्थ्य और इम्युनिटी को बेहतर बनाना। क्योंकि माता-पिता अक्सर बच्चों के खान-पान और उनकी सेहत को लेकर चिंतित दिखाई देते हैं। सब कुछ होते हुए भी उन्हें लगता है कि बच्चों के पोषण में कुछ ना कुछ कमी रह गई है। और फिर अगर आपका बच्चा बार-बार बीमार होता है तो उसकी इम्यूनिटी को लेकर चिंता हो ही जाती है। ऊपर से बच्चों का मूड, खाने को लेकर उनकी विशेष आदतें आपको परेशानी में डाल देती हैं। देखा जाता है कि आजकल बच्चों को बाहर का खाना ज़्यादा पसंद आता है। जबकि दूसरी और आप भी जानते हैं कि बाहर का खाना बच्चों के लिए कितना सुरक्षित और अच्छा है। ऐसे में कुछ विशेष खाद्य पदार्थ जो बच्चों की इम्युनिटी को बढ़ाने में मददगार साबित हो सकते हैं। जी हां चाइल्ड हेल्थ के लिए प्रोबियोटिक्स इसके अलावा आप ड्राई फ्रूट्स का प्रयोग भी कर सकते हैं। यही नहीं सिट्रस फ्रूट्स विटामिन सी से युक्त होते हैं। जो प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मददगार साबित हो सकते हैं। विटामिन डी किसी भी व्यक्ति की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में महती भूमिका अदा करता है। और विटामिन डी का सबसे अच्छा स्रोत होता है सनलाइट जो कि प्रकृति ने हमें मुफ्त में दी है। आइये जानते हैं कि और किन चीजों से बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाई जा सकती है।

अच्छी इम्युनिटी मतलब अच्छी सेहत

सीधी-सी बात है कि किसी की इम्युनिटी जितनी स्ट्रांग होगी उसकी सेहत उतनी अच्छी रहेगी। कोरोना के मामले में ही आप देख लीजिए। जिनकी इम्युनिटी मज़बूत है वो कोरोना से जल्दी बाहर आ गए हैं। इसलिए इंसान के जीवन में इम्युनिटी बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। अगर शुरुआत से ही बच्चे के पोषण में पौष्टिक चीजें शामिल हों तो उसकी इम्यूनिटी भी बहुत अच्छी होती है। बचपन में एक बार जैसा आपका शरीर बन जाता है वह आपको लंबे समय तक मदद देता है। अपने बच्चे की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए शुरुआत से ही उसे अच्छी चीज़ें खिलाएं-पिलाएं और उसकी सेहत का ध्यान रखें।

शरीर का रक्षा कवच होती है इम्युनिटी

अगर हम कहें कि इम्युनिटी आपका रक्षा कवच होती है कोई गलत बात नहीं होगी। यह अनेक रोगों से आपकी रक्षा करती है। हमारा शरीर तब तक बीमारियों से लड़ता है जब तक शरीर के सुरक्षा पहरेदार उनसे लड़ाई करते हैं। लेकिन जब हमारे शरीर के रक्षा पहरेदार हारने लगते हैं तो बीमारियां हम पर हावी होने लगती हैं। इसलिए ज़रूरी है कि हम अपने शरीर को ज़्यादा से ज़्यादा मज़बूत बनाकर रखें। और शरीर की इम्युनिटी को बढ़ाएं। इम्युनिटी मज़बूत होने से आप कम से कम बीमार होंगे और खुशहाल व सुरक्षित जीवन जी पाएंगे।

सनलाइट में खेलने दें बच्चों को

जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का प्रभाव बढ़ा है वैसे-वैसे खेल के मैदान खाली होते जा रहे हैं। घर पर दिन-भर बैठ कर बच्चे या तो वीडियो गेम खेलते हैं या मोबाइल पर गेम खेलते हैं। इसके अलावा टीवी के सामने बैठकर वह अपना होमवर्क भी कर लेते हैं और खाना भी खा लेते हैं। ऐसे में बाहर जाना कम से कम हो पाता है। अब जब बाहर नहीं जाएंगे तो बाहर की हवा, सनलाइट उन तक कैसे पहुंचेगी। जी हां सनलाइट में मौजूद विटामिन डी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में बहुत बड़ा योगदान देता है। यह तो आप भी जानते हैं कि विटामिन डी का सबसे बड़ा स्रोत है सनलाइट मतलब सूर्य की रोशनी। वैसे भी सूर्य की रोशनी में इतनी ताकत होती है कि वह आपके शरीर को अंदर से बहुत मज़बूत बना देता है। आपने काम करने वाले मजदूरों को देखा है? वह हर समय बीमार नहीं होते। क्योंकि वह दिन-भर कड़ी धूप में काम करते हैं। यह बात अलग है कि वह भी कभी-कभी बीमार होते हैं। पर आम इंसानों के मुकाबले उनकी इम्युनिटी बहुत ही मज़बूत होती है। इसलिए आप भी बच्चों को ज़्यादा से ज़्यादा सनलाइट में रखें। ठंड के दिनों में तो वैसे भी धूप बहुत अच्छी लगती है। लेकिन गर्मी के दिनों में सुबह-सुबह की जो धूप होती है
वह हमारे बहुत काम आती है।

प्रोबियोटिक्स का इस्तेमाल भी बढ़ाता है इम्युनिटी

अगर आप बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाना चाहते हैं तो प्रोबायोटिक्स का इस्तेमाल करें। वैसे तो आप जानते ही होंगे कि जो प्रोबायोटिक्स होते हैं वह डेयरी उत्पाद का एक हिस्सा होते हैं। दूध, दही, पनीर, छांछ यह सभी चीज़ें प्रोबायोटिक्स की श्रेणी में आती हैं। कभी-कभी बच्चे दूध पीने में या दही वगैरह खाने में थोड़ी रुचि दिखाते हैं। लेकिन किसी ना किसी बहाने से आप उन्हें यह सभी चीजें दे सकते हैं। प्रोबियोटिक्स शरीर को और हड्डियों को मज़बूत बनाते हैं। और साथ ही आपकी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं।

ड्राई फ्रूट्स बनते हैं शरीर की ढाल

किसी भी चीज़ के स्वाद को बढ़ाने के लिए ड्राई फ्रूट से बेहतर और कोई चीज़ नहीं होती। चाहे आप खीर बना रहे हों, हलवा या फिर और कोई मीठी चीज़। ड्राई फ्रूट इन सब के स्वाद को और ज़्यादा बढ़ा देते हैं। लेकिन हम आपको बता दें कि ये सेहत के लिए भी बहुत मददगार होते हैं। चाहे आप बादाम खाएं, अखरोट खाएं, किशमिश खाएं या कोई और ड्राई फ्रूट। लेकिन बच्चों को मुट्ठी भर ड्राई फ्रूट देना बहुत ज़रूरी है। आप चाहें तो उन्हें दूध में मिलाकर दें या हलवा बना कर दें। लेकिन इन सब में ड्राई फ्रूट का होना बहुत ज़रूरी है। इससे बच्चों का अच्छा विकास होता है साथ ही वह मज़बूत बनते हैं।

सिट्रस फ्रूट्स हैं विटामिन सी का खज़ाना

खट्टे फल मतलब सिट्रस फ्रूट्स विटामिन सी के स्त्रोत माने जाते हैं। ऐसा माना जाता है कि सिट्रस फ्रूट्स आजकल बहुत उपयोग में आ रहे हैं। क्योंकि कोरोना के रोगियों को भी सिट्रस फ्रूट्स उपचार के तौर पर दिए जा रहे हैं। इसके पीछे कारण है रोग प्रतिरोधक क्षमता का बढ़ना। जी हां आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कोरोना को हराने में मददगार साबित हो सकती है। विटामिन सी की मेडिसिन भी काफी अच्छे परिणाम दे रही है। बच्चों की इम्युनिटी को बढ़ाने के लिए उन्हें सिट्रस फ्रूट्स जैसे संतरा, मौसंबी दे सकते हैं।

तो आप भी अपने बच्चों की इम्युनिटी इसी तरह की कुछ चीज़ों से बढ़ा सकते हैं। इन चीज़ों के अलावा आप बच्चों को एक संतुलित जीवन दें। समय पर सोना, जागना, साथ ही हल्के-फुल्के व्यायाम करवाना। यह सभी ज़रूरी होता है। बस छोटे-छोटे उपाय अपनाएं और बच्चों की सेहत को बनाए रखें।

बच्चों की इम्युनिटी बढ़ाने में मददगार उपायों पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

पेरेंटिंग से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे लव एंड लाइफ सेक्शन को देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए निरोग दर्पण के प्रेगनेंसी एंड पेरेंटिंग सेक्शन को विज़िट करना ना भूलें।