फैंटम प्रेग्नेंसी जो आपको महसूस करवाये कि आप मां बनने वाली हैं

by | Jul 25, 2020 | Love & Life, Parenting | 0 comments

पैरेंटिंग की सबसे अद्भुत श्रृंखला है प्रेग्नेंसी। जी हां मातृत्व का पड़ाव हर मायने में अनोखा और सुखद है। यह पहलू वही समझ सकता है जो इसे महसूस कर सकता है। सीधा सा मतलब उन महिलाओं से है जो मां बनती हैं। अब कई बार गर्भावस्था या मां बनने की इच्छा इतनी प्रबल हो जाती है कि महिलाएं फैंटम प्रेग्नेंसी को भी सही मान लेती हैं। क्या आप इसके बारे में जानती हैं? जी हां फैंटम प्रेग्नेंसी मतलब मां बनने का सिर्फ आभास। इसका वास्तविकता से कोई संबंध नहीं होता है। महिला को लगता है कि वो गर्भवती है। लेकिन सच में ऐसा नहीं होता है। फाल्स प्रेग्नेंसी सिम्पटम्स इतने रियल होते हैं कि महिलाएं इसे सच मान लेती हैं। हो सकता है पीरियड्स के न आने का कारण कुछ और हो। या अन्य कोई ऐसा लक्षण जो प्रेग्नेंसी के दौरान उभरता हो। अपने जीवन में करीब 1/3 महिलाएं इस तरह की स्थिति का शिकार होती हैं। आइये आपको इस बारे में जानकारी दी जाए।

कैसे समझें फैंटम प्रेग्नेंसी को?

अगर आप बच्चा प्लान कर रहे हैं तो आपको अपनी प्रेग्नेंसी के बारे में पहले से जानकारी होगी। लेकिन फैंटम प्रेग्नेंसी एक ऐसी अवस्था है जहां आपको लगता है कि आप मां बनने वाली हैं। जबकि सच्चाई इससे बहुत दूर होती है। फैंटम प्रेग्नेंसी में कई लक्षण इतने वास्तविक होते हैं कि महिलाएं उलझ जाती हैं और खुद को प्रेग्नेंट समझने लगती हैं। लेकिन यदि आप बच्चे की प्लानिंग नहीं कर रही हैं और प्रिकॉशन्स भी ले रही हैं तो फिर फैंटम प्रेग्नेंसी की संभावना बढ़ जाती है। इसके लिए प्रेग्नेंसी टेस्ट ही एकमात्र उपाय होता है, जिससे सच्चाई का पता चलता है।

मानसिक दशाओं का असर हो सकती है फैंटम प्रेग्नेंसी

एक महिला अनेक प्रकार के मानसिक दवाब से गुजरती है। सम्भव है कि वह अपनी गर्भावस्था को लेकर भी तनाव महसूस करती हो। इसके कारण भी फैंटम प्रेग्नेंसी की अवस्था पैदा हो सकती है। इसके अलावा फैंटम प्रेग्नेंसी उन महिलाओं को अधिक परेशान करती है जो पहले गर्भपात की शिकार हो चुकी हैं। इसलिए यदि आप पहले से किसी मानसिक दवाब में हैं और आपको लगता है कि आप प्रेग्नेंट हैं तो पहले अच्छे से जांच करवा लीजिये।

पीरियड्स का हर बार मिस होना गर्भावस्था नहीं है

महिलाओं के लिए गर्भावस्था का सबसे बड़ा संकेत है पीरियड्स का मिस होना। पीरियड्स मिस होने पर ही वह आगे ले लिए ज़रूरी कदम उठाती हैं। लेकिन उन महिलाओं का क्या जो अनियमित माहवारी से गुज़र रही हैं। कभी 2 महीने में पीरियड्स आ रहे हैं। कभी जल्दी तो कभी देर से। ऐसे में फैंटम प्रेग्नेंसी के हालात पैदा हो सकते हैं। वैसे तो अनियमित पीरियड्स होने से प्रेग्नेंट होने की संभावना भी कम हो जाती है। लेकिन फिर भी पीरियड्स का मिस होना हर बार प्रेग्नेंसी नहीं होता।

फाल्स प्रेग्नेंसी सिम्पटम्स ऐसे होते हैं

जी हां देखा जाए तो फाल्स प्रेग्नेंसी सिम्पटम्स आम गर्भावस्था की तरह ही होते हैं। फाल्स प्रेग्नेंसी सिम्पटम्स में मॉर्निंग सिकनेस होना आम बात है। इस दौरान पेट के निचले हिस्से में दर्द का बना रहना भी एक लक्षण है। फाल्स प्रेग्नेंसी सिम्पटम्स में नोशिया या जी घबराना भी शामिल होता है। इस तरह फाल्स प्रेग्नेंसी सिम्पटम्स नैचरल प्रेग्नेंसी सिम्पटम्स जैसे ही होते हैं। बस टेस्ट से इन्हें समझा जा सकता है।

तो आप भी अब किसी तरह की अन्य बातों में समय गंवाए बिना ऐसा कुछ महसूस होने पर डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

फाल्स प्रेग्नेंसी पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

पैरेंटिंग से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे लव एंड लाइफ सेक्शन को देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए निरोग दर्पण के प्रेग्नेंसी एंड पैरेंटिंग सेक्शन को विज़िट करना न भूलें।