हो सकता है नुकसान, अगर आप इन हेल्थ कंडीशन में करेंगे इंटरकोर्स

by | Jul 2, 2020 | Love & Life, Sex | 0 comments

आपके जीवन में रिलेशनशिप के दौरान ऐसे अनेक मोड़ आते हैं जब आप एक दोराहे पर खड़े होते हैं। इसमें आपके इंटरकोर्स से जुड़े मुद्दे भी शामिल होते हैं। जी हां माना कि ये जीवनचर्या का एक अनिवार्य पहलू है, लेकिन सावधानियों के साथ। आप सोचेंगे शायद हम नज़दीकियों में उन सावधानियों का ज़िक्र करेंगे जो अमूमन होती आई हैं। मसलन सेफ्टी प्रिकॉशन्स या इसी तरह की अन्य बातें। तो नहीं, यहां आप गलत हैं। हम इस संदर्भ में आपको सेक्स की एक अलग चेतावनी से जोड़ना चाहते हैं। जैसे आपकी हेल्थ कंडीशन जो आपकी सेक्स लाइफ से जुड़ी होती है। जैसे डिलीवरी के बाद का समय जो महिला के स्वास्थ्य के लिहाज़ से बेहद अहम होता है। उसी तरह से लेज़र थेरेपी करवाने के बाद भी अंतरंगता बढ़ाना ठीक नहीं होता है। आइये जानते हैं और किन स्वास्थ्य दशाओं में सेक्स नहीं करना चाहिए।

कोरोना के संशय के बीच सही नहीं है इंटरकोर्स

जानते हैं हम कि कोरोना का ये समय हर व्यक्ति के लिए एक बड़े खतरे के रूप में सामने आया है। ऐसे में वैसे ही कपल इंटरकोर्स को लेकर सहज नहीं हैं। लेकिन अगर आपको लगता है कि आपको कोरोना का खतरा अधिक है या संभावना ज्यादा है तो आप इंटरकोर्स से दूर ही रहें। कई बार जब इंसान बहुत घबराया होता है और स्ट्रेस वाले मोड में होता है ऐसे में वह इंटरकोर्स की ओर प्रवृत्त होता है। लेकिन यहां आपको सचेत रहना है। क्योंकि ऐसा माना जाता है कि सेक्स के दौरान फ्लूइड का डिस्चार्ज भी कोरोना का कारण बन सकता है।

दूर रहें इंटरकोर्स से अगर करवाना हो पेप स्मियर टेस्ट

आप पेप स्मियर टेस्ट के बारे में तो जानते ही होंगे। बिल्कुल सही पहचाना आपने सर्वाइकल कैंसर का पता लगाने के लिए पेप स्मियर टेस्ट करवाना होता है। इसमें कैंसर के लिए स्क्रीनिंग की जाती है। इसलिए जब पेप स्मियर टेस्ट करवाना होता है तो खास हिदायत दी जाती है कि टेस्ट के 48 घंटे पहले तक इंटरकोर्स नहीं करना है। इस बारे में डॉक्टर आपको पहले ही जानकारी दे देते हैं।

खास हेल्थ कंडीशन में सेक्स करना हो सकता है हार्मफुल

देखा जाए तो इंटरकोर्स को एक सेहतमंद प्रक्रिया माना गया है। लेकिन कुछ हेल्थ कंडीशन ऐसी होती हैं, जिसमें सेक्स करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है। संभव है कि आपको कोई संक्रामक हेल्थ कंडीशन हुई हो, जिससे आप अंजान हों और सेक्स के बाद ये संक्रमण आपके पार्टनर को भी हो जाये। इसलिए सचेत होना ज़रुरी है। साथ ही अपनी हेल्थ कंडीशन पर ध्यान देना भी बहुत ज़रूरी है।

डिलिवरी के बाद भी कुछ समय सेक्स से दूरी बना लें

देखिये मां बनने के बाद आपके शरीर में बहुत बदलाव होते हैं। इस समय एक महिला वैसे ही कमज़ोर हो जाती है। ऐसे में डिलिवरी के बाद इंटरकोर्स आपको और कमजोरी दे सकता है। डॉक्टर के अनुसार डिलिवरी के कम से कम 6 हफ्ते बाद ही आपको सेक्स करना चाहिए। डिलिवरी के बाद आपके पार्टनर का कितना ही मन क्यों न हो आप सेक्स से थोड़ा दूर ही रहें।

लेज़र थेरेपी करवाने के बाद भी इंटरकोर्स न करें

यदि आपने वैक्स या लेज़र थेरेपी करवाई है तो उसके बाद इंटरकोर्स से दूर रहें। क्योंकि लेज़र थेरेपी करवाने के बाद हील होने में समय लगता है। हो सकता है इससे आपकी त्वचा में कोई समस्या हो जाये। या लेज़र थेरेपी के बाद सेक्स करने से कोई दूसरी तकलीफ पैदा हो जाए। इसलिए आप थोड़े समय सेक्स से दूर ही रहें तो अच्छा होगा।

तो आप भी इन हेल्थ कंडीशन में खुद को इंटरकोर्स से दूर रखें और खुद का और अपने पार्टनर की लाइफ को खतरे में डालने से बचें।

किन कंडीशन्स में सेक्स खतरनाक हो सकता है, इस विषय पर आधारित ये पोस्ट आपको पसंद आई हो तो इसे शेयर करें। कमेंट सेक्शन में अपने विचार लिखें और पोस्ट को रेटिंग देना न भूलें।

सेक्स से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारे लव एंड लाइफ सेक्शन को देखें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए निरोग दर्पण के लव एंड रिलेशनशिप सेक्शन को विज़िट करना न भूलें।